BARSAAT LYRICS – Armaan Malik | Kunaal Verma

BARSAAT LYRICS – Armaan Malik | Kunaal Verma| Armaan Malik Lyrics

Song Name BARSAAT LYRICS – Armaan Malik | Kunaal Verma
Singer(s) Armaan Malik
Composer(s) Amaal Mallik
Lyricist(s) Kunaal Verma

BARSAAT LYRICS – Armaan Malik | Kunaal Verma sung by Armaan Malik composed by Amaal Mallik lyrics written by Kunaal Verma.

BARSAAT LYRICS  in English :

Ho Ke Juda Khush Ho Agar
Has Ke Bichad Jaaunga
Keh De Mujhe Dil Se Tere
Khud Hi Utar Jaaunga

Kar Faisla Abhi Ke Abhi
Kyon Bewajah Intezaar Hai
Ya Phir Mujhe Tum Rok Lo
Agar Mere Liye Dil Mein Pyaar Hai

Phir Aaj Hai Dil Roo Raha
Sab Keh Rahe Barsaat Hai
Phir Aaj Hum Khamosh Hain
Shayad Koi To Baat Hai

Tere Liye Iraade Mere
Main Na Badal Paaunga
Chahe Milo Jitno Se Tum
Sab Mein Nazar Aaunga

Saanson Mein Hai Jo Use Bhoolna
Itna Bhi Kahan Asaan Hai
Karke Dekh Le Sau Koshishein
Na Mumkin Si Yeh Baat Hai

Phir Aaj Hai Dil Roo Raha
Sab Keh Rahe Barsaat Hai
Phir Aaj Hum Khamosh Hain
Shayad Koi To Baat Hai

Phir Aaj Hai Dil Roo Raha
Sab Keh Rahe Barsaat Hai

BARSAATLYRICS  in Hindi :

हो के जुदा खुश हो अगर
हस के बिछड़ जाऊँगा
कह दे मुझे दिल से तेरे
खुद ही उतर जाऊँगा

कर फैसला अभी के अभी
क्यों बेवज़ह इंतज़ार है
या फिर मुझे तुम रोक लो
अगर मेरे लिए दिल में प्यार है

फिर आज है दिल रो रहा
सब कह रहे बरसात है
फिर आज हम खामोश हैं
शायद कोई तो बात है

तेरे लिए इरादे मेरे
मैं ना बदल पाउँगा
चाहे मिलो जितनों से तुम
सब में नज़र आऊँगा

साँसों में है जो उसे भूलना
इतना भी कहाँ आसान है
करके देख ले सौ कोशिशें
ना मुमकिन सी ये बात है

फिर आज है दिल रो रहा
सब कह रहे बरसात है
फिर आज हम खामोश हैं
शायद कोई तो बात है

फिर आज है दिल रो रहा
सब कह रहे बरसात है

BARSAAT LYRICS YouTube Video